प्रस्तावना

अनुसंधान विद्या-शाखा का अनुवाद अनुभाग अनुसंधान विभाग के महत्त्वपूर्ण घटकों में से एक है । अत्युच्च कोटि के भारतीय तथा तिब्बती विद्वानों के धर्म-ग्रंथ पाठों के कई सारे अनुवादों में यह अनुभाग लगा रहता है । प्रमुख तथा गौण प्रकल्पों के कई महत्त्वपूर्ण पाठों को इस अनुभाग ने अपने कंधों पर लिया है और यह एक सातत्य से चल रही प्रक्रिया है । 1998 में इस अनुभाग ने प्रारम्भ से लेकर दो दर्जन से भी अधिक ग्रंथों का तिब्बती के साथ हिंदी/अँग्रेजी अनुवाद, समालोचनात्मक संपादनों के साथ प्रकाशित किया है । इसके अलावा, उपलब्ध संस्कृत तथा तिब्बती अनुवाद का समालोचनात्मक संपादन अनुसंधानाभिमुख प्रस्तावना तथा परिशिष्टों के साथ कार्यपथ पर है । इनमें से तिब्बती स्रोतों के पाठों का पुनरुद्धार करने वाली महत्त्वपूर्ण श्रेष्ठ रचनाँए तथा उनके हिंदी अनुवाद पूरे हो चुके हैं । इसके साथ-साथ, छात्रों को प्रोत्साहित करने के लिए यह अनुभाग अनुवाद प्रणालीशास्त्र पर कक्षाएँ चलाता है तथा युवा पीढ़ियों में रुचि तथा जागरूकता पैदा करने के लिए लघु अवधि की संस्कृत कक्षाएँ चलाता है । मॅसॅशुसेट्स, यूएसए तथा तस्मानिया विश्वविद्यालय, ऑस्ट्रेलिया के साथ आदान-प्रदान कार्यक्रम में भी इस अनुभाग ने 1990 से आज तक सक्रिय योगदान किया है । हैंपशायर कॉलेज, स्मिथ कॉलेज तथा बहुप्रतिष्ठित ऐमहर्स्ट कॉलेज 1995 तथा 2007 के वसंत सत्रों में इस कार्यक्रम के अर्न्तगत अध्यापन कार्य में इस अनुवाद अनुभाग के सह-प्राध्यापक सबसे पहले प्राध्यापक थे ।